You have an error in your SQL syntax; check the manual that corresponds to your MySQL server version for the right syntax to use near '' at line 1You have an error in your SQL syntax; check the manual that corresponds to your MySQL server version for the right syntax to use near '' at line 1 Kendriya Vidyalaya Palwal
सी.बी.एस.ई. संबद्धता संख्या: ५०००१५
सी.बी.एस.ई. विद्यालय संख्या: xxxxx
आयुक्त का संदेश| |हमसे संपर्क करें| |दाखिला विवरण| |पुराने छात्र| |फोटो गैलरी| |वर्तमान समाचार| |डाउनलोड| |निविदाएं |-
The Web Only this site
केन्द्रीय विद्यालय पलवल

Kendriya Vidyalaya Palwal

( An Autonomous Body Under MHRD )
Government Of India
शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में...
माननीय मानव संसाधन विकास मंत्री का संदेश
माननीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री का संदेश
घोषणाएं
Announcements
More...
इस खंड में प्रदर्शित करने के लिए कुछ भी नहीं ...
ग्रैंड पेरेंट्स डे
More...

बच्चे उर्वरभूमि पर लहलहाती फसलों के सदृश हैं, जिस पर किसी भी राष्ट् की आधारशिला निर्धारित होती हैं। राष्ट्र् के भविष्य की बुनियाद बच्चें होते हैं। ये उस राष्ट्र्‌रुपी वृक्ष की जडें हैं जो नई पीढ़ी को कार्य, आराधना तथा विद्वता के फल प्रदान करता है। इन बच्चों को भविष्य की लम्बी राह तय क
...

आपका स्वागत है
  • 0
    ...
  • 1
    ...
  • 2
    ...
  • 3
    ...
  • 4
    ...
  • 5
    ...
  • 6
    ...
  • 7
    ...
  • 8
    ...
  • 9
    ...
  • 10
    ...
  • 11
    ...
  • 12
    ...
  • 13
    ...
  • 14
    ...
  • 15
    ...
  • 16
    ...
  • 17
    ...
  • 18
    ...
  • केन्द्रीय विद्यालय पलवल , केन्द्रीय विद्यालय संगठन के द्वारा चलाये जाने वाले विद्यालयों में से एक है, जो बच्चों में शैक्षिक श्रेष्ठता, भारतीयता की भावना, राष्ट्रीय एकता और समग्र व्यक्तित्व के विकास के अवसर उपलब्ध कराता हैं । यह विद्यालय माध्यमिक एवं उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता के केंद्र के रूप में जाना जाता हैं ।
    केन्द्रीय विद्यालय पलवल के प्रमुख चार मिशन इस प्रकार है -
    • केन्द्रीय सरकार के स्थानांतरणीय कर्मचारियों जिनमें रक्षा तथा अर्धसैनिक बलों के कर्मी भी शामिल हैं , के बच्चों को शिक्षा के सामान्य कार्यक्रम के तहत शिक्षा प्रदान कर उनकी शैक्षिक अवश्यकताओं को पूरा करना ।
    • विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता और गति निर्धारित करना ।
    • केन्द्रीय माध्यमिक षिक्षा बोर्ड (सी.बी.एस.सी.) राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् (एन.सी.ई.आर.टी.) इत्यादि जैसे अन्य निकायों के सहयोग से शिक्षा के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग तथा नवाचार को सम्मिलित करना ।
    • बच्चों में राष्ट्रीय एकता और भारतीयता की भावना का विकास करना ।
    अंतिम नवीनीकृत : 17-04-2017

    To visit the Download Section please click the button given below




    यूज़र नेम
    -------
    पासवर्ड